भूत की कहानी – 3 Bhoot Ki Kahani In Hindi

Bhoot Ki Kahani हिंदी में - असली भूत की कहानी




आज की भूत की कहानी और भूत वाली कहानी में हम भूतो वाली कहानी इन हिंदी पड़ेंगे। Bhutiya Kahani आज की Real Horror Story In Hindi और असली भूत की कहानी है । आज की सभी bhoot ki kahani  हिंदी में है । कहानी इन हिंदी 


आज हम आपको तीन भूत की कहानी  बताएंगे , जिसमे से कुछ Real Horror Story In Hindi है, कुछ भूत की कहानी डरावनी है और कुछ भूतिया गुड़िया की कहानी है ।


आपको सभी भूतों की कहानी Table Of Content के आधार पर बताई जाएगी । Horror Kahani Achi Achi



TOC ( भूत वाली कहानी विषय तालिका ) 


  1. साइको हसबैंड – bhoot wala kahani 
  2. मर्सी डॉल – Bhutiya gudiya 
  3. ब्लैक डे इन मैथ्स क्लब – भूत वाली कहानी 
  4. भूतों वाली कहानी – Youtube Video 


भूत की कहानी, Horror Story In Hindi - भूतों वाली कहानी पढ़े 



चलिए अब हम अपनी भूतों वाली कहानी की पहली कहानी साइको हस्बैंड पढ़ते हैं।


❊  साइको हसबैंड ( Psycho Husband )


एक साइको पति रहता है जो अपनी ही पत्नी का एक धार दार चाकू से मर्डर कर देता है उन दोनों का एक छोटा सा बच्चा रहता है जो 5 साल का है वह सोफे में बैठा हुआ यह सब देखता रहता है। 


बच्चा अपनी मां को मरते हुए देखता है लेकिन उसे कुछ समझ नहीं आता वह साइको आदमी अपनी पत्नी को चाकू से 8 बार मारता है और उसके पेट से उसकी अतरिया निकाल कर अपने गले में पहन लेता है और उसके बाद वह अपनी पत्नी को अपने कंधे में रखकर घर से बाहर निकल जाता है और अपने घर के बगल वाले गार्डन में चला जाता है।


भूतो की कहानी Part I : - Click Here 


गार्डन में एक खंडहर सा घर रहता है जिसकी छत टीन की रहती है और दीवाल टूटी हुई उसके अंदर पूरा कबाड़ा रखा हुआ रहता है जिसे वह बाहर निकालता और घर के अंदर एक बड़ा सा गड्ढा खोदकर अपनी पत्नी को दफना देता है।


अपनी पत्नी को दफनाने के बाद उसके मन में ख्याल आता है कि उसका बेटा अब उससे जरुर पूछेगा कि उसकी मम्मी कहां है? 


यह सोचते हुए वह अपने घर लौट जाता है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं होता है वह छोटा सा बच्चा उससे पूछता ही नहीं कि उसकी मम्मी कहां है 1 दिन भी पता है 2 दिन बीता है और आखिरकार एक हफ्ता बीत जाता है लेकिन बच्चा उससे कोई प्रश्न नहीं करता। 


एक दिन वह दोनों डाइनिंग टेबल पर रात को खाना खाते रहते हैं। तब खाना खाते खाते उसका बेटा उसे घूरने लग जाता है, तब वह साइको घबरा जाता है और थोड़ा जी जाते हुए अपने बेटे से पूछता है क्या हो गया तुम खाना क्यों नहीं खा रहे।


तब उसका बेटा उसे हल्की भारी आवाज में जवाब देता है पापा मम्मी हमेशा आपके कंधे पर क्यों बैठी रहती है?...





पहली भूतो की कहानी और Bhutiya Kahani समाप्त । आपको यह Bhoot Ki Kahani , कहानी इन हिंदी कैसी लगी comment मे बताए।



भूतों वाली कहानी – Bhutiya Gudiya की कहानी इन हिंदी




चलिए अब हम अपनी भूत की कहानी में Bhutiya Gudiya की कहानी इन हिंदी पड़ते है ।


❊  मर्सी डॉल ( Mercy Doll )


क्रोएशिया नामक एक देश में एक दुकान वाले ने एक लड़की को एक थोड़ी विचित्र सी डॉल दे दी जिस दाल का नाम मर्सी था। मर्सी डॉल की मालकिन का नाम शैरी था। शैरी एक पैरानॉर्मन एक्सपोर्ट थी। 


जिस दिन से वह डॉल शैरी के घर में आई थी उस दिन से अजीब अजीब पैरानॉर्मल एक्टिविटी उनके घर में होने लगी जिस वजह से उनके घर के किराएदार घर खाली करके चले गए। 


पहले उनके घर के आंगन में चिड़ियों का चहचहाना लगा रहता था गली के कुत्ते उनके घर में रोज आते थे लेकिन उस डॉल के आने के बाद वह सब मानो एकदम से गायब ही हो गए। उनके घर के अगल-बगल एक भी जानवर नहीं दिखता यहां तक के घर से छिपकली अभी गायब हो गई थी और चीटियां भी नजर नहीं आती थी।


धीरे-धीरे दिन बीतते गए उसके बाद शैरी के मम्मी पापा और शैरी को भी उस डॉल अगल बगल नेगेटिव एनर्जी का एहसास होने लगा था। जिस भी कमरे में वह डाल रखी रहती उस कमरे में अंधेरा ही अंधेरा रहता था घर में बिजली होने के बावजूद उस कमरे की लाइट नहीं जलती, इसके अलावा उस कमरे से हमेशा एक दुर्गंध से बदबू आती थी।


लेकिन मम्मी पापा के कहने पर भी शैरी में इन सब चीजों पर ध्यान नहीं दिया उसके बाद दिन-ब-दिन पैरानॉर्मल एक्टिविटी बढ़ने लगी कभी सालों से खराब पड़ा हुआ रेडियो अपने आप चलने लग जाता और जिस कमरे में डॉल रहती वाह-वाह से गायब होकर दूसरे कमरे में चले जाती घरवालों को कभी कबार फर्श पर खून की बूंद भी नजर आने लगी ।


Bhoot Wala Kahani हिंदी मे :– Click Here 


एक दिन शैरी के पापा उस डॉलर से तंग आकर उसे पूरे घर में ढूंढने लगे लेकिन वह वहां नहीं मिले इसलिए उन्होंने सोचा कि वह कहीं भाग गई होगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ 2 दिनों तक सब नॉर्मल हो गया था उनके घर में जानवर आने लगे थे सब खुशी-खुशी वापस लौट रहा था परंतु 2 दिन बाद ही वहां डॉल उनके लाइब्रेरी में एक बुक के बीच में रखी हुई मिली।


उसके बाद शायरी के पापा मम्मी का कार एक्सीडेंट हो गया और उन्हें चोट भी आई तब शैरी ने उस धान के लिए एक क्रिश्चियन को घर बुलाया और उस डाल पर क्रिश्चियन पोप ने कील ठोक दी और उसे एक बक्से में बंद करके मंत्रों से जाप किया और उस बक्से को शमशान में जाकर दफना दिया गया। 


उसके बाद धीरे-धीरे के माता पिता सुधरने लगे और हॉस्पिटल से घर लौट गए एक महीने बाद अचानक वह डाल उनके घर में वापस आ जाती है और फिर से यह घटना होने लगता है जब शैरी को यह पता चलता है,तब वह उस क्रिस्टल पोप को वापस बुलाने जाती है लेकिन जब वह चर्च पहुंचती है तब उसे पता चलता है कि जिस दिन पोप ने उस डॉल को शमशान में दफनाया था उसी दिन उस पॉप की फांसी लग कर मृत्यु हो जाती है।


यह सुनकर शैरी बहुत ज्यादा उतर जाती है और अंततः शायरी और उसकी फैमिली घर छोड़कर चले जाते हैं माना जाता है कि क्रोएशिया के शहर क्रोएटिय की यह घटना अत्यंत प्रसिद्ध है और वहां पर अभी भी शैरी और उसकी फैमिली का घर मौजूद है धीरे धीरे उसके कॉलोनी के सभी लोगों ने अपना घर छोड़ दिया तब से वहां कॉलोनी वीरान पड़ी हुई है और कोई भी वहां जाने की हिम्मत नहीं करता...





आपको Bhutiya Gudiya की कहानी कैसी लगी comment मे बताए। दूसरी भूत की कहानी समाप्त।


Real Horror Story In Hindi – चुड़ैल की कहानी , स्कूल में भूत 



अब हम तीसरी भूतों वाली कहानीreal horror story in Hindi पड़ेंगे । 


❊  ब्लैक डे इन मैथ्स क्लब ( Black Day In Maths Club )


यह घटना मुझे क्लीयरली याद है उस वक्त मैं हाई स्कूल में पढ़ा रही थी। उस स्कूल में किंडर गार्डन, एलिमेंट्री स्कूल ,हाई स्कूल ,और कॉलेज सब एक ही कैंपस में था। वह वास्तव में एक बहुत बड़ा कैंपस था जहां हम अपने जीवन का एक बढ़िया टाइम स्पेंड कर रहे थे।


मैं उस वक्त अपने दोस्त जिसैल , लाइरा और क्रिस्टीन के साथ मैथ्स क्लब में थी । एक दिन हम मैथ्स क्लब में पढ़ रहे थे हमारा मैप्स क्लब एलिमेंट्री स्कूल से लगा हुआ था।


हमारा मैथ्स क्लब पूरे कैंपस के एक वीरान जगह पर बना हुआ था जिस वजह से हमें मैक्स क्लब तक पहुंचने के लिए काफी चलना पड़ता था तब हम जाकर वहां पहुंचते थे। चारों ओर सन्नाटा और ऊंचे ऊंचे पेड़ों से घिरा हुआ हमारा महत्व क्लब जिस के सबसे निकट एलिमेंट्री स्कूल था।


भूतिया ढाबा की कहानी :– Click Here 


हमारे मैथ्स क्लब के एंट्री गेट के जस्ट सामने एक विशाल एल्डर्स ट्री था । जिसे मैं तब से देख रही थी जब मैं किंडर गार्डन में थी उस पेड़ के अगल-बगल एक नेगेटिव एनर्जी का एहसास होता था लेकिन मैंने कभी इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया और अपने काम से काम रखती थी।  


जैसे ही हम मैथ्स क्लब के पास पहुंची हमने देखा कि टीचर क्लास 3 के बच्चों को जल्दी में क्लास से बाहर निकाल रही थी बच्चों में भी शोर मचा हुआ था हम यह देख कर थोड़ा घबरा गए थे। उसके बाद उस टीचर ने सारे बच्चों को क्लास फोर्थ में भेज दिया तब हम सोचे कि यहां चल क्या रहा है।


हम चारों ने उत्सुकता के चलते क्लास थर्ड की ओर जाकर देखने चाहा कि आखिरकार चल क्या रहा है। तब हम चारों ने धीरे-धीरे छुप-छुपकर क्लास थर्ड की ओर गए जैसे ही हम क्लास की गेट के पास पहुंचे हमें अंदर से किसी के जोरो से चिल्लाने की आवाज आने लगी हम एकदम से घबरा गए और क्रिस्टीन वापस भागने लगी लेकिन उसे लायरा ने पकड़ लिया।


तब हम गेट से तुरंत दौड़कर एक दीवार के पीछे छुप गए और मैंने थोड़ी हिम्मत करके क्लास के एक खिड़की से अंदर देखने की कोशिश की लेकिन क्लास में उत्तम खामोशी और काला अंधेरा छाया हुआ था दिन का समय होने के बावजूद काली रात की तरह अंधेरा छाया हुआ था। 


हम चारों डर गए और वापस जाने के लिए लौट ही रहे थे तभी हमें क्लास के अंदर उसे जोर जोर से चिल्लाने की आवाज आने लगी। 


आ.... आ.... आ.....


यह आवाज मानो किसी खूंखार जानवर से आ रही हो ऐसा लग रहा था। हम चारों डर गए और हमारे पास डर के कारण कांपने लगे हम चुपचाप खड़े रहते तब वह आवाज नहीं आती जैसे ही हम कदम बढ़ाते चिल्लाने की आवाज और बढ़ने लग जाती तब हम चारों ने जहां है वहीं खड़े रहने की सहमति बनाई। 


उसके बाद हमने खिड़की से वापस झांक कर अंदर देखने की कोशिश की तब हमें कमरे के अंदर से एक गद्दार बदबू आने लगी। डर के मारे मेरा बैग नीचे गिर गया और जोर से आवाज आ गई तब हम और डर गए और सब एक दूसरे को पकड़कर कहां पर नहीं लगे। 


जब अंदर से कोई आवाज नहीं आ रही थी पूरे स्कूल में सन्नाटा छाया हुआ था धीरे-धीरे हम वहां से जाने लगी बिना पैरों से आवाज की हमने अपने जूते भी उतार कर हाथ में पकड़ लिए थे ताकि कोई आवाज ना आ सके।


जैसे ही हम वहां से निकले हमने खिड़की से देखा कि एक लड़की को चेयर से बांधकर रखा हुआ है और उसके अगल-बगल हमारे स्कूल की 3– 4 टीचर खड़े हैं और एक आदमी जो सफेद कलर का कोट पहना हुआ है वह टेबल के ऊपर खड़े होकर उस कुर्सी से बनी हुई लड़की पर कुछ मंत्र पढ़ रहा है और उसके सर पर हाथ रखकर उसके बाल को खींच खींचकर उसे जोरों से हिला रहा है।


अच्छी अच्छी कहानी :– Click Here 


वह जो भी हो रहा था हम चारों वह देखकर बहुत ज्यादा डर गए थे। हम चारों के मुंह से आवाज तक नहीं निकल रही थी हमने सोचा यहां से भाग जाने में ही भलाई है लेकिन उसके बाद जो हुआ उसने तो हमारे होश ही उड़ा दिए थे।


वह कुर्सी से बनी हुई लड़की चिल्ला चिल्ला के हम चारों का एक-एक करके नाम लेने लगी और जोर जोर से हंसने लगी हम चारों की सांसे अटक गई थी इस डर के कारण हम ढंग से सांस भी नहीं ले पा रहे थे। उस लड़की का चेहरा पूरा लाल हो गया था और आंखें काली होने लगी थी उसकी कुर्सी हवा में उड़ने लगी और वह जोर जोर से हंस रही थी ।


उसे देखकर वहां मौजूद सारे टीचर डर गए और वह सफेद कोट वाला आदमी अपनी पोटली से कुछ पानी निकाल कर उसके और फेंकने लगा जिस वजह से वह और जोरो से चिल्लाने लगी जैसे ही वह पानी उसके शरीर में पढ़ता वहां से धुआ निकलने लगता। 


अब वह लड़की जोर-जोर से कर रहा नहीं लगी और इधर-उधर हिलने लगी जैसे ही उसके बाल उसके मुंह के ऊपर से हटे तब हमने देखा कि उसके आप दोनों आंखों से खून भी निकल रहा है और उसके मुंह में लंबे-लंबे दांत है।


तभी एक टीचर क्लास से बाहर निकली और हमें देखा हमें जोरों से फटकार लगाई और वहां से भगा दिया। हम चारों डरे हुए वहां से भाग गए और सीधा अपने कमरे में आ गए यह घटना हमारे जीवन में घटित आज तक की सबसे खौफनाक और डरावनी घटना थी उसके बाद उस लड़की के साथ क्या हुआ यह हमें नहीं पता । 


ढाबा मे भूत कहनी इन हिंदी :– Click Here 


स्कूल के प्रिंसिपल ने यह घटना के बाद 3 दिन का अवकाश दे दिया था लेकिन हमें बाद में पता चला कि प्रिंसिपल ने 3 दिन का अवकाश इस घटना के लिए नहीं बल्कि वहां मौजूद एक टीचर की मृत्यु हो जाने के कारण दिया था ...


तीसरी bhutiya kahani और bhoot ki kahani कहानी इन हिंदी समाप्त होती है।



भूत की कहनी और Bhutiya Kahani – Youtube Video से कहानी इन हिंदी 





आपके लिए भूत प्रेत की 13 सच्ची घटना पर आधारित भूतों वाली कहानी और भूत की कहानी इस यूट्यूब वीडियो से देख सकते है । 


असली भूत प्रेत की कहानी :– Click Here 


Bhutiya Kahani Conclusion :– 


हम आशा करते हैं कि आपको हमारी भूतों की कहानी और भूत की कहानी पसंद आई होगी । आज की तीन भूत वाली कहानी में भूतिया गुड़िया की कहानी ( bhutiya gudiya ) मेरी सबसे पसंदीदा है । आपको इनमें से कौन सी भूत की कहानी पसंद आई हमें कमेंट सेक्शन में अवश्य बताएं और इस Bhoot ki kahani को मित्रो के अवश्य शेयर करें ।

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ