Horror Story Bhutiya Dhaba - भूतिया कहानी भूतिया ढाबा | Moral Story In Hindi


Horror Story Bhutiya Dhaba - भूतिया कहानी भूतिया ढाबा | Moral Story In Hindi 



Horror Story Bhutiya Dabha, बेहतरीन मनोरंजन प्रेरणादायक बच्चों की कहानी. Horror Story In Hindi ( Bhutiya Story ) । अच्छी-अच्छी हिंदी में नई कहानियां बच्चों के लिए। Real Horror Story In Hindi मनोरंजक ही नहीं बल्कि नैतिकता का पाठ भी पढती है।

बच्चों की bhoot wala kahani या horror story in hindi का दूसरा भाग ( Part II ) पढ़ने के लिए नीचे दिए हुए लिंक को दबाए👇👇

☠️Bhoot Wala Kahani☠️

आज की  , भूत की कहानी ,  भूतिया कहानी मे हम एक भूतिया ढाबा की कहानी पड़ेंगे। जिसमे एक बिकारी की आत्मा ...

तो चलिए हम कहानी शुरू करते हैं। भूतिया ढाबा हिंदी में 2021 । Bhoot Wala Kahani / Real Horror Story In Hindi


भूतिया ढाबा कहानी । Horror story Hindi , Bhoot Wala Kahani – Real Horror Story In Hindi


भूतिया ढाबा
भूतिया ढाबा

हरिपुर नामक एक शहर था जहां पर पप्पू का ढाबा नामक एक ढाबा था जो कि इतना मशहूर था कि दूर दूर से लोग उसके यहां खाने आते थे । पप्पू का ढाबा इसीलिए मशहूर हुआ था क्योंकि वहां का खाना जो भी एक बार खा ले वह उसका स्वाद भूल नहीं पाता था। कोई भी उस गांव में कुछ भी काम से आता तो वह उस ढाबे का खाना खाए बगैर नहीं जात। जितना ही बाहर ढाबा दिन-ब-दिन मशहूर होते जा रहा था उतना ही ढाबे के मालिक का घमंड बढ़ता जा रहा था। अगर कभी कबार ढाबे का खाना बच जाता तो ढाबे के मालिक को उसे फेंक देना मंजूर था लेकिन किसी भूखे जानवर या भीकारी को देना मंजूर नहीं था ।


एक दिन की बात है एक भीकारी ढाबे के पास से जा रहा था वह बहुत भूखा था वह बहुत दिन से कुछ नहीं खाया था तो उसने ढाबा देखा और उसके मालिक के पास चला गया।


भिकारी : मालिक कुछ खाने का दे दो बहुत भूख लगी है, बहुत भूख लगी है मैंने बहुत दिन से कुछ नहीं खाया है, कुछ खाने का दे दो बाबूजी।

मालिक : अरे जा जा आगे जा कुछ नहीं मिलेगा खाने को।

भिकारी : बाबूजी कुछ खाने का दे दो बहुत दिन से कुछ खाया नहीं है बड़ी कृपा होगी आपकी।

मालिक : सुबह-सुबह नहीं पता कहां से आ जाते हैं सारा दिन खराब कर दिया हुं! रामू ओ रामू जरा इसे बाहर तो निकाल धक्के मार के नहीं पता कहां से आ गया है।


Bhoot Wala Kahani
Bhoot Wala Kahani

राम भिखारी को धक्के मार मार कर ढाबे से बाहर निकाल देता है लेकिन मालिक को उस पर बिल्कुल दया नहीं आती और भीकारी भूख के मारे बेहोश होजाता है ।

रामू : अरे मालिक यह तो बेहोश हो गया से ।

मालिक : अरे तो मैं क्या करूं, इसे तू दुकान के सामने से हटा। ग्राहक के आने का टाइम हो रहा है ।

रामू : जी मालिक !

मालिक अरे ओ मालिक लगता है यह तो मर गया।

मालिक : अरे क्या बोल रहा है

रामू : मालिक मैं सही बोल रिया हूं।

मालिक : तू एक काम कर इसे उठाकर ढाबे के पीछे जो कुआं है उस में फेंक दे किसी को कुछ पता नहीं चलेगा।

रामू : जी मालिक हु हु ..

रामू उस भिकारी को कुएं में फेंक देता है।


Bhoot Wala Kahani
Bhoot Wala Kahani


मालिक : रामू किसी ने कुछ देखा तो नहीं किसी को कुछ पता तो नहीं चला।
रामू : नहीं मालिक
मालिक : आज का तो दिन ही खराब गया आज ज्यादे ग्राहक भी नहीं है कल तुम सब टाइम से आ जाना, वरना तुम्हारा पगार काट दूंगा ।
रामू : जी मालिक।

मालिक अपने सारे नौकरों को छुट्टी देकर वह भी अपने घर चला जाता है। मालिक को रास्ते में ऐसा लगता है कि कोई उसके पीछे पीछे चल रहा है। कभी मालिक रुक जाता है और पीछे मुड़कर देखता है लेकिन उसे कोई नहीं दिखता फिर वह वापस चलने लग जाता ।

मालिक : अरे मेरा वहेम होगा ।

मालिक यह बोलकर चलने लगता है तभी उसे कोई पीछे से थप्पड़ मारता है। वह अपने चारों ओर देखता है लेकिन उसे कोई नहीं दिखता वह अपने चलने की रफ्तार बढ़ा देता है और जल्दी से अपने घर पहुंच जाता है

बच्चों की bhoot wala kahani या horror story in hindi का दूसरा भाग ( Part II ) पढ़ने के लिए नीचे दिए हुए लिंक को दबाए👇👇

☠️Bhoot Wala Kahani☠️


मालिक : अरे भाग्यवान जल्दी से खाना लगा दो बड़े जोरों की भूख लगी है।
पत्नी : जी अभी लाई ।

जैसे ही पत्नी थाली में खाना लेकर आते रहती है तभी उसे भीकारी का भूत जोर से पीछे से धक्का मारता है जिस वजह से उसके हाथों से थाली नीचे गिर जाती है और पूरा खाना जमीन पर बिखर जाता है।

Horror Story In Hindi


मालिक : अरे भाग्यवान यह क्या किया सारा खाना गिरा दिया।
पत्नी : जी मुझे पता नहीं कि यह कैसे गिर गया लगा मुझे किसी ने पीछे से धका दिया।
मालिक : आज का दिन ही खराब है सुबह से कुछ ना कुछ अनहोनी हो रही है।

मालिक उस रात बिना खाना खाए सो जाता है अगली सुबह वह अपने ढाबे के लिए निकल पड़ता है। वह अपने काउंटर में बैठा रहता है तभी उसके नौकर आते हैं।

नौकर : प्रणाम मलिक
मालिक : प्रणाम चलो चलो काम पर लग जाओ।

तभी एक ग्राहक ढाबे पर आता है और कुर्सी पर बैठ जाता है और खाने का ऑर्डर देता है।

ग्रहाक : रामू जल्दी से खाना लाओ।
रामू : जी साहब अभी लाता हूं।

रामू उसके लिए खाना लेकर आता है उसके बाद ग्राहक खाने का पहला निवाला खाता है। उसे वह बहुत तीखा लगता है वह खाने को थूकते हुए कहेता है ।

ग्राहक: अरे यह कैसा खाना है 
मालिक : अरे क्या हुआ क्यों खाना अच्छा नहीं है क्या।
ग्राहक : अरे यह कैसा खाना है इतना तीखा, इतना तीखा कौन कहता है ।
मालिक : रामू अरे ओ रामू आज तुम यहां क्या खाना बनाया है।
रामू : अरे मालिक पता नहीं यह कैसे हो गया खाना तो मैंने अच्छा ही बनाई से 

HORROR STORY BHUTIYA DHABA। BHOOT WALA KAHANI| Bhutiya Dabha Story In Hindi 2021


तो आइए हमारे साथ चलिए बच्चों की मनोरंजक कहानियां के इस अनोखे सफर पर ..

आज भी मालिक की कोई कमाई नहीं होती और सारा खाना फेंकने में जाता है। यह देखकर भिकारी बहुत खुश होता है। अगले दिन मालिक खुद सुबह जल्दी आ कर अपने नौकरों को बुलाता है और कहता है।

मालिक : आज तुम सब ऐसा खाना बनाना जिसे जो भी खाए उंगलियां चाटते रह जाए।
नौकर : जी मालिक 

तभी सारे नौकर और राम खाना बनाने लग जाते हैं और मालिक भी वहीं खड़ा रहता है उन सब पर नजर रखता है खाना बन कर तैयार हो जाता है।

मालिक : आ हा हा हा खाने की खुशबू तो बड़ी अच्छी आ रही है मजा आ गया क्या खाना बना है।

तभी ढाबे में ग्राहक आता है और रामू को खाना लाने बोलता है। राम उसके लिए गरम गरम खाना लगता है

ग्राहक : अरे वाह खाने से तो बहुत बढ़िया खुशबू आ रही है लगता है आज खाना बहुत ही स्वादिष्ट बना है।

जैसे ही ग्राहक खाने के लिए बैठता है वैसे ही रोटी गायब हो जाती है वह घबरा जाता है और रामू को आवाज लगाता है।

ग्राहक : रामू अरे रामू जल्दी आ 
रामू : जी साहब क्या हो गया से
ग्राहक : अरे मेरी रोटी हो गई।
रामू : अरे यह कैसे हो सकता है , आपको वहम होरिया होगा सहाब

यह काम भिकारी के भूत का था वही सब ग्राहकों को डरा रहा था ग्राहक डर के मारे ढाबे से भाग रहे थे यह देखकर भिकारी बहुत खुश हो रहा था। ढाबे के मालिक को यह सब देख कर कुछ समझ नहीं आ रहा था। यह सब रोज का काम हो गया रोज भीकारी आने वाले सभी ग्राहकों को तंग करता धीरे धीरे ढाबे की कमाई भी कम होने लगी ग्राहक भी कम होने लगे।
एक दिन की बात है कुछ लोग शहर से गांव जा रहे थे उन्हें रास्ते में पप्पू का ढाबा नजर आया । उन्होंने उस दावे का नाम बहुत सुन रखा था इसलिए वह सब वहां खाना खाने के लिए रुक जाते हैं । 
उन लोग खाने का आर्डर करते हैं रामू उन लोगों के लिए खाना लेकर आता है । जैसे ही रामू टेबल पर खाना रखता है और दोनों ग्राहक खाना खाने के लिए बैठते हैं वैसे ही उनकी शाही पनीर की सब्जी चिकन की सब्जी में बदल जाती है वह दोनों यह देख कर डर जाते हैं। जैसे ही वह दोनों पीने के लिए पानी का ग्लस उठाते हैं वैसे ही भिकारी पानी के गिलास को उनसे छीन कर उन्हीं के सर में पूरा पानी डाल देता है। वह दोनों बहुत ही डर जाते हैं और जोर जोर से चिल्लाने लगते हैं


Horror Story Bhutiya Dabha


ग्राहक : भूत भूत अरे इस ढाबे में तो बहुत है भागो यहां से।

देखते ही देखते ढाबे में दिन-ब-दिन ऐसी अलग-अलग प्रकार की घटनाएं होने लगी किसी की रोटियां  हवा में उड़ने लगती तो किसी की कुर्सी किसी की सब्जियां बदल जाती तो किसी का खाना ही गायब हो जाता ऐसे अनोखी अलग-अलग घटनाएं हर दिन होने लगी। लोग उस ढाबे को भूतिया ढाबे के नाम से जानने लगे। एक दिन मालिक गले से पैसे निकालने के लिए गल्ला खोलता है तो उससे एक भी पैसा दिखाई नहीं देता है उसके जगह उसे भिकारी का कटा हुआ सर दिखाई देता है


मालिक : भूत भूत अरे यहां तो उसी भिकारी का सार है जिसे मैंने पीछे कुएं में फेंका था। फिर ये इधर आया तो आया कैसे।


भूत वाला कहानी


मालिक की बात सुनकर ढाबे में जितने भी लोग रहते हैं वह सब मालिक के पास आ जाते हैं।

पहला आदमी : क्या हुआ भाई साहब आप इतने डरे हुए क्यों हैं।
दूसरा आदमी : क्या हुआ भाई इतना चिल्ला क्यों रहे हो ।
मालिक : यहा हमारे गल्ले में भूत है एक भीकारी का भूत है उसकी कटी हुई खोपड़ी रखी हुई है और उधर से पैसे भी गायब है।
पहला आदमी : अरे भाई साहब ऐसा कैसे हो सकता है
मालिक : अरे जाओ तुम खुद ही जाकर देख लो तुम्हें भी  दिख जाएगी खोपड़ी । वह एक भूत है भूत 

वह आदमी ढाबे के मालिक की बात सुनकर गल्ला खोलता है ना तो उधर कोई खोपड़ी होती है और ऊपर से उसके सारे पैसे वहीं रहते हैं

दूसरा आदमी: अरे भाई साहब लगता है आप की तबीयत ठीक नहीं आपने जरूर कोई नींद में सपना देख लिया होगा वहां तो आपके सारे पैसे रखे हुऐ है। आपको आराम करने की आवश्यकता है जाइए छुट्टी ले लीजिए।
मालिक : अरे नहीं भैया मैं झूठ नहीं बोल रहा हूं मैंने कोई सपना नहीं देखा मैंने यहां सच में एक खोपड़ी देखी थी ।

मालिक अपनी बात सभी को मनवाने की कोशिश करता है लेकिन कोई उसकी बात पर विश्वास नहीं करता और सब वहां से चले जाते हैं तभी रामू वहां पर आता है।

रामू : मालिक मुझे लग्रिया से यह सब वह भूखा भिकारी की आत्मा करिया से जिसे आपने पीछे कुएं में फेखवा दिया थे। अरे वही भीकारी जिसकी भूख के वजह से मौत हो गई थी इसी वजह से उसकी आत्मा हमारे ढाबे में भटक रही है से और आपको दिन रात परेशान कर रही है से 
मालिक : हां रामू मुझे भी यही लग रहा है। बस तुम मुझे यह बताओ कि इसका क्या इलाज है वरना ऐसा ही चलता रहा तो एक दिन मेरा ढाबा तो डूबे गा ही और मैं भी सड़क में आ जाऊंगा।
रामू : चिंता ना करिए मालिक मैं एक बाबा को जान रहीया से मैं आपको उनके पास ले जा देता हु । उस बाबा के पास हमारी परेशानी का कोई न कोई हल जरूर होगिइया से। ऐसा मेरा उस बाबा पर विश्वास ठहैरिया से। मैंने उनका काफी नाम भी सुन रखा से । वह सब की परेशानी झट से गायब करदिए से अपनी तंत्र विद्यायो से । तो चले फिर मालिक

Horror Story Bhutiya Dabha – Best Hindi story for kids ,भूतों की कहानी – Bhutiya Story


तो आइए हमारे साथ चलिए बच्चों की मनोरंजक कहानियां के इस अनोखे सफर पर ..

रामू उसका मालिक अगले ही दिन सुबह उस बाबा के पास जाते हैं और जाकर अपनी सारी परेशानियां बताते हैं ।

बाबा : मूर्ख! यह तुमने क्या किया एक भूखे भीकारी कि तुमने जान ले ली उसकी आत्मा भूख के वजह से ही तुम्हारे ढाबे में भटक रही है और तुम्हें परेशान कर रही है।
मालिक : बाबाजी हमारी रक्षा करो हमसे बहुत बड़ी भूल हो गई आइंदा से ऐसा नहीं होगा। हमें माफ कर दो माफ कर दो बाबा हमें माफ कर दो।


बाबा अपनी शक्ति से भिकारी की आत्मा को बुलाता है


Bhutiya dabha


भूत भिकारी : अगर मुझे किसी ने परेशान किया तो मैं उसे मार डालूंगा। हा हा हा 
मालिक : मुझे माफ कर दो मुझे माफ कर दो मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई [ रोते हुऐ ] 
मैं आगे से किसी भी भिकारी को भूखा नहीं जाने दूंगा , नहीं जाने दूंगा [ रोते हुए ] 
मुझे माफ कर दो


बाबा अपने लोटे से पवित्र जल निकालते हैं और उस भिकारी के आत्मा को मुक्त कर देते हैं और उस मालिक को हमेशा गरीबों को खाना खिलाने को कहते हैं।


और ऐसे ही भूतिया कहानी पढ़ने के लिए हमारे पेज को फॉलो करिए। भूतिया साइकिल , भूतिया घर , भूत भूतिया कहानी , भूतिया गांव , भूतिया पेड़, भूतिया हॉस्पिटल , bhutiya kahani  real , Bhoot Wala Kahani , Real Horror Story In Hindi , Bhutiya Story , Horror Story Bhutiya Dabha

बच्चों की bhoot wala kahani या horror story in hindi का दूसरा भाग ( Part II ) पढ़ने के लिए नीचे दिए हुए लिंक को दबाए👇👇
☠️Bhoot Wala Kahani☠️

Horror Story Bhutiya Dabha सुनेगे youtube video से


भूतिया ढाबा की कहानी हॉरर स्टोरी इन हिंदी आप यूट्यूब के माध्यम से भी सुन सकते हैं।

Conclusion :– 

हम आशा करते हैं कि आपको हमारे हॉरर स्टोरी और भूतिया ढाबा की कहानी ( Horror Story In Hindi ) पसंद आई होगी हमने इस कहानी का यूट्यूब आधारित वीडियो भी दिया है अगर आपको हमारी हॉरर स्टोरी इन हिंदी पसंद आई तो इसे शेयर करें।

एक टिप्पणी भेजें

2 टिप्पणियाँ